रामनवमी पर निबंध (Essay on Ram Navami in Hindi)


राम नवमी चैत्र मास की नवमी तिथि को रामनवमी मनाई जाती है। यह हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। हिंदु धर्म में इस त्यौहार का बहुत ही अधिक महत्व है। इस दिन भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था, उनके जन्म कि ख़ुशी में रामनवमी मनाई जाती है।

रामनवमी पर निबंध (Essay on Ram Navami in Hindi)


भगवान राम को मरियादा पुर्शोतम भी कहा जाता है, क्यूंकि उन्होंने अपने जीवन कि सभी कठिनाओं का सामना बहुत ही धेर्य से किया। उन्होंने अपने आदर्शों को कभी नहीं तोड़ा और कभी भी ज़िन्दगी में झूठ नहीं बोला। यहां पर हम रामनवमी पर निबंध (Essay on Ram Navami in Hindi)

Essay on Ram Navami in Hindi
Essay on Ram Navami in Hindi

रामनवमी क्यूँ मनायी जाती है? (Ram Navami kyun manayi jati hai)


यह बात त्रेता युग कि है, जब धरती पर अत्याचार बढ़ने लगा था। तन विष्णु भगवान ने राम के अवतार में धरती पर जन्म लिया था। यह अवतार धरती पर राक्षसों का विनाश करने के लिए हुआ था। इस दिन भगवान राम का जन्मदिन बहूँ ही धूम धाम से मनाया जाता है।

Read Also:राजस्थान पर निबंध Essay on rajasthan in hindi|1000+ innovative words

उनका जन्म अयोध्या में हुआ था इसी वजह से आज बे अयोध्या में रामनवमी के दिन बहुत सजावट कि जाती है। इस सजावट तथा भगवान राम जी के जन्म उत्सव को देखने के लिए लाखों लोग इस इन अयोध्या में पहुँचते हैं।

रामनवमी कैसे मनायी जाती है?(Ram Navami kese Manayi jati hai)


हमारे ग्रंथों में लिखा है, कि इस दिन माता कौशल्या ने भगवान राम को जन्म दिया था। बहुत से लोग इस दिन व्रत भी करते हैं, वो सारा दिन कुछ नहीं खाते तथा भगवान राम के नाम का गुणगान करते हैं। लोग अपने घर के सदस्यों कि मंगल कामना के लिए सारा दिन भगवान राम कि पूजा अर्चना करते हैं।

अपने घर में स्साज सजावट करते हैं। श्री राम के साथ साथ माता सीता तथा लक्ष्मण जी कि भी पूजा कि जाती है।

Read Also:विद्यार्थी जीवन सुविचार- Best thought in student life 2022

रामनवमी का व्रत रखने कि विधि तथा लाभ (Ram Navami ka vrat rakhne ki vidhi tatha labh)


भगवान राम के जन्मदिन के दिन व्रत करने वाले लोग सुभ स्नान करके पीले रंग के कपड़े पहनते हैं। उसके बाद पूजा का समान इकठ्ठा करते हैं, जैसे कि कमल का फूल, फल, चौकी, तुलसी, एक लाल कपडा, छोटा सा झूला, गंगाजल, ताम्बे का कलश आदि। समान एकत्रित करने के बाद श्री राम कि मूर्ती को सामने रखके राम जी के नाम का पूजा पाठ किया जाता है।

रामनवमी पर निबंध
रामनवमी पर निबंध | Essay on Ram Navami in Hindi।


हिंदु धर्म में ऐसा मन्ना है कि रामनवमी के दिन व्रत रखने से भगवान राम अपनी कृपा सब पर बनाये रखते हैं। इसलिए उनकी कृपा लेने के लिए तथा उनके बताए क़दमों पर चलने के लिए लोग इस दिन पूजा पाठ करते हैं।

भगवान राम के चरित्र से हमें क्या सीख मिलती है? (Bhagwan ram ke charitra se hame kya Sikh milti hai)


राम जी का सारा जीवन ही हमें कुछ न कुछ सीख देता है। हर माँ चाहती है कि उसका पुत्र श्री राम जैसा हो, हर पत्नी चाहती है कि उसका पति भगवान राम जैसा हो। वो जिस तरह के राजा, पति तथा पुत्र बनें, वो हमें उस दिशा में चलने को प्रेरित करते हैं।

भगवान राम हमे सिखाते हैं की हमें हर सूरत में भगवान पर विश्वास रखना चाहिए। ज़िन्दगी कि हर परिस्थिति का सामना डट कर करना चाहिए, किसी भी सूरत में घबराना या डोलना नहीं चाहिए।

रामनवमी पर निबंध
रामनवमी पर निबंध | Essay on Ram Navami in Hindi।


यह भरोसा रखना चाहिए कि भगवान कभी किसी का बुरा नहीं करते हैं। वो जो भी हमारे साथ करते हैं उसमे कुछ न कुछ अच्छाई ज़रूर छुपी होती है, जो हो सकता है हमे आज नहीं दिखाई दे रही पर आगे जाकर हमारे जीवन में उसका बहुत योगदान होगा। इसके साथ ही वो हमें यह भी सिखाते हैं कि हमें दूसरों के प्रति प्यार तथा दया कि भावना रखनी चाहिए।

Read Also:इंद्रधनुष में कितने कलर होते हैं –7| Rainbow Mein Kitne Colour Hote Hain|


भगवान राम हमे यह सीख भी देते हैं, कि अगर कोई अपराध करता है तो हमें उसे क्षमा कर देना चाहिए, क्यूंकि अगर हम मित्रता निभाते हैं तो हमारा मित्र ज़रूर हमारे साथ अच्छा करता है।


सबसे बड़ी बात जो भगवान राम ने हमें सिखाई है वो ये है कि हमें किसी के साथ भेद भाव नहीं करना चाहिए। क्यूंकि भगवान ने सबको एक जैसा ही बनाया है, हमें भी सबकी सामान ही समझना चाहिए। अपने माता पिता कि सेवा करना अपना धर्म समझना चाहिए, अपने रिश्तों को पैसे से ज़्यादा महत्व देना चाहिए। सबके सात प्यार से बात करनी चाहिए।

रामनवमी पर निबंध
रामनवमी पर निबंध | Essay on Ram Navami in Hindi।

ऊपर लिखीं सभी बातों का निष्कर्ष निकलता है, कि भगवान राम का सारा जीवन ही एक सीख के बराबर है। रामनवमी का त्यौहार सिर्फ एक त्यौहार ही नहीं, बल्कि हमारे लिए एक सीख है, की हमें अपनी ज़िन्दगी किस तरह प्यार तथा विश्वास से बितानी चाहिए। राम जी के अच्छे गुणों को अपना कर ही हम अच्छे इंसान बन सकते हैं। रामनवमी का यह त्यौहार हमें खुशियाँ तथा मंगल कामना देता है।

Leave a Comment